Word of the Today Status quo in Hindi,The present situation or condition

!! यहाँ पर आने के लिए मैं आप का दिल से हार्दिक स्वागत करता हूँ और करता रहूँगा !!

आप यहाँ पर जिस सोच के साथ आये हैं, यहाँ पर आप को सब कुछ मिलेगा.

तो चलिए शुरू करते है.

ऊपर जो Status quo दिया गया है उसे हिंदी में (यथापूर्व स्थिति) कहा जाता है इस शब्द का हिंदी जानना इस लिए जरुरी है कि हम सब अपने दैनिक जीवन में इस शब्द का कही न कही सामना करना परता है.

इस word का इंग्लिश में एक उदाहरण के साथ मैं बता रहा हूँ जो इस प्रकार हैं –

Experts believe that china has the military power to altee territorial status quo .

विशेषज्ञ का मानना है की चीन के पास क्षेत्रीय यथापूर्व स्थिति बादलने की सैन्य शक्ति है |

दुसरे शब्दों में-

The situation as it is now, or as it was before a recent change,

स्थिति जैसी अभी हैं या हाल के बदलाव के पहले थी ;यथा पूर्व स्थिति , यथा स्थिति |

Similar words/synonyms-

Situation,status , circumstances, current situation.

Word detail-

The present situation or condition.

State Legislature (राज्य विधानमंडल)

राज्य की राजनीतिक व्यवस्था में राज्य विधानमंडल की केंद्रीय एवं प्रभावी भूमिका होती हैं |

संविधान के छठे भाग में अनुच्छेद 168 से 212 तक राज्य विधान मंडल की संगठन, गठन, कार्यकाल, अधिकारीयों, प्रक्रियाओं, विशेषाधिकार तथा शक्तियों आदि के बारे में बताया गया है | यधपि ये सभी संसद के अनुरूप हैं फिर भी इनमें कुछ विभेद पाया जाता है |

Constitution of State Legislature (राज्य विधानमंडल का गठन) 

राज्य विधानमंडल के गठन में कोई एकरुपता नहीं है | अधिकतर राज्यों में एक सदनीय व्यवस्था है, जबकि कुछ में व्दिसद्नीय है | वर्तमान में (2019) केवल छह राज्यों में दो सदन हैं, ये हैं- आंधप्रदेश, तेलन्गाना, उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र और कर्नाटक, जम्मू और कश्मीर |

Constitution of assembly (विधानसभा का गठन) 

संख्या : विधानसभा के प्रतिनिधियों को प्रत्यक्ष मतदान से व्यस्क मताधिकार के द्वारा निर्वाचित किया जाता है | इसकी अधिकतम संख्या 500 और निम्नतम 60 तय की गई है | इसका अर्थ है के 60 से 500 के बीच की यह संख्या राज्य की जनसंख्या एवं इसके आकार पर निर्भर है |

Term of assembly (विधानसभा का कार्यकाल) 

लोकसभा की तरह विधानसभा भी निरंतर चलने वाला सदन नहीं है | आम चुनाव के बाद पहली बैठक से लेकर इसका सामान्य कार्यकाल पांच वर्ष का होता है इस कल के समाप्त होने पर विधानसभा स्वतः ही विघटित हो जाती है, हालाँकि इसे किसी भी समय विघटित करने के लिए राज्यपाल अधिकृत है |

Term of legislative council (विधानपरिषद का कार्यकाल) 

राज्यसभा की तरह विधान परिषद एक सतत सदन है, यानी कि स्थायी अंक जो विघटित नहीं होता | लेकिन इसके एक-तिहाई सदस्य, प्रत्येक दुसरे वर्ष में सेवानिवृत्त होते रहते हैं | इस तरह एक सदस्य छह वर्ष के लिए सदस्य बनता है |

speaker of the Assembly (विधानसभा अध्यक्ष) 

विधानसभा के सदस्य अपने सदस्यों के बीच से ही अध्यक्ष का निर्वाचन करते हैं | सामान्यतः विधानसभा के कार्यकाल तक अध्यक्ष का पद होता है |

Assembly Deputy Speaker (विधानसभा उपाध्यक्ष) 

अध्यक्ष की तरह ही विधानसभा के सदस्य उपाध्यक्ष का चुनाव भी अपने बीच से ही करते हैं | अध्यक्ष का चुनाव संपन्न होने के बाद उसे निर्वाचित किया जाता है | अध्यक्ष की ही तरह उपाध्यक्ष भी विधानसभा के कार्यकाल तक पद पर बना रहता है |

Chairman of the Legislative Council (विधान परिषद का सभापति) 

विधान परिषद के सदस्य अपने बीच से ही सभापति को चुनते हैं | पीठासीन अधिकारी के रूप में परिषद के सभापति की शक्तियां एवं कार्य विधानसभा के अध्यक्ष की तरह हैं | हालाँकि सभापति को एक विशेष अधिकार

Leave a comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap