आचार्यश्री के अंतिम शब्द: ॐ सर हल्का सा झुका और महासमाधि में लींन ह गए

आचार्यश्री के अंतिम शब्द ने हम सभी को गहरी सोच पर ले जाते हैं। वे शब्द जो उन्होंने अपने जीवन के अंतिम क्षणों में कहे, वे हमारे लिए एक आदर्श हैं। यह शब्द न केवल उनकी गहरी आध्यात्मिकता को दर्शाते हैं, बल्कि हमें एक सोचने का मार्ग प्रदान करते हैं।

आचार्यश्री के अंतिम शब्द 2024

आचार्यश्री ने अपने अंतिम शब्द के रूप में “ॐ” का चयन किया। यह एक प्राचीन धार्मिक शब्द है जो हिन्दू धर्म में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। “ॐ” का उच्चारण करने से पहले, आचार्यश्री ने अपने सर को हल्का सा झुकाया। इसका मतलब है कि हमें अपने आप को अपने आदर्शों के सामर्थ्य के सामर्थ्य में झुकाना चाहिए। यह हमें सम्मान और विनम्रता का संकेत देता है।

आचार्यश्री के अंतिम शब्दों में एक और महत्वपूर्ण तत्व है – महासमाधि। यह एक आध्यात्मिक अवस्था है जब एक योगी अपने शरीर को छोड़कर अपनी आत्मा के साथ एकीकृत हो जाता है। आचार्यश्री ने इस अवस्था में प्रवेश किया है और अपने जीवन की यात्रा को समाप्त कर दी। यह हमें यह बताता है कि हमें अपनी आत्मा के साथ एकीकृत होने की यात्रा पर जाना चाहिए।

आचार्यश्री के अंतिम शब्द हमें यह भी सिखाते हैं कि हमें अपने जीवन को उच्चतम आदर्शों के साथ जीना चाहिए। वे शब्द जो उन्होंने अपने अंतिम क्षणों में कहे हैं, हमें यह याद दिलाते हैं कि हमें अपने आदर्शों के अनुसार चलना चाहिए और उन्हें अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए।

Acharya Shri last word हमें यह भी सिखाते हैं कि हमें अपने आत्मा के साथ एकीकृत होने की यात्रा पर जाना चाहिए। यह एक महत्वपूर्ण धार्मिक सिद्धांत है जो हमें यह याद दिलाता है कि हमारी आत्मा हमारे शरीर से अलग है और हमें इसे पहचानना चाहिए। आचार्यश्री ने अपने जीवन rom last word क्षणों में इस यात्रा पर जाने का प्रयास किया और उन्होंने अपनी आत्मा के साथ एकीकृत हो लिया।

आचार्यश्री के अंतिम शब्दों का महत्व अपार है। वे हमें एक सोचने का मार्ग प्रदान करते हैं, एक आदर्श जीवन की ओर प्रेरित करते हैं और हमें आत्मा के साथ एकीकृत होने की यात्रा पर ले जाते हैं। आचार्यश्री के अंतिम शब्द हमें यह याद दिलाते हैं कि हमें अपने आदर्शों के साथ जीना चाहिए और उन्हें अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए।

दैनिक भास्कर के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करने 

पिछला आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करने 

error: Content is protected !!