क्यों मनाया जाता हैं रक्षाबंधन, कैसे मनाये, इतिहास, कहानी | Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai In Hindi

रक्षाबंधन 2021 में कब हैं, इतिहास, कहानी, रक्षाबंधन कैसे मनाए, रक्षाबंधन raksha bandhan celebrated, Raksha Bandhan kab aur kyu Manaya Jata hain in Hindi

रक्षाबंधन raksha bandhan celebrated hindi 2022

रक्षाबंधन भाई – बहनों के बीच मनाया जाने वाला सबसे बरा पर्व हैं, यह विशेष कर हिन्दू धर्म पालन करने वाले मनाते हैं. लेकिन अभी धीरे – धीरे बढ़ रहा है. यह भारत सहित विश्व के हर जगह मनाया जाता हैं. जहाँ पर हन्दू धर्म पालन करने वाले लोग रहते हैं.

रक्षाबंधन कब मनाया जाता हैं 

रक्षाबंधन प्रति वर्ष मनाया जाता हैं. हिन्दू पचांग के अनुसार श्रावण महिना के पूर्णिमा के दिन मनाया जाता हैं. अधिकतर अंग्रेज़ी पचांग के अनुसार यह अगस्त महिना में आता आता हैं. रक्षाबंधन एक धार्मिक त्यौहार हैं. इसलिए इस दिन छुट्टी रहता हैं.

रक्षाबंधन 2021 में कब है, शुभ समय क्या हैं 

2021 में रक्षाबंधन कब हैं  22 अगस्त 2021 को 
राखी बांधने का शुभ समय  सुबह 9:27 से लेकर रात 9:11 बजे तक 
कौनसा दिन  सावन का अंतिम सोमवार 
कुल समय  11 घंटे 43 मिनट 
रक्षाबंधन सुबह का समय  दोपहर 1:45 से 5:23 तक 
रक्षाबंधन शाम का समय  शाम 7:01 से 21:11 तक 

क्यों मनाया जाता हैं रक्षाबंधन

रक्षाबंधन के त्यौहार का महत्त्व (Raksha bandhan Importance)

रक्षाबंधन भाई – बहनों के बीच का पर्व हैं. बहन अपने भाई को रक्षा धागा बांधती हैं. भाई भी जीवन भर रक्षा का वचन देता हैं. भाई और बहन एक साथ मिलकर भगवान का पूजा पाठ करती हैं.

रक्षाबंधन पर कहानी 

रक्षाबंधन से जुरे पौराणिक कथाए निचे दिए जा रहे हैं-

यम और यमुना से जुरे कहानी 

एक पौराणिक कथा के अनुसार यम अपने बहन से 12 वर्ष तक उनके घर मिलने नहीं आए. एक बार जब यम अपने बहन यमुना से मिलने आए इस पर यम यमुना से एक वरदान मांगने को कहा इस पर यमुना ने वरदान में यहीं माँगा की भाई फिर अपने बहन से मिलने आए.

इतिहास क्या हैं रक्षाबंधन का (History of Raksha Bandhan)

विश्व के इतिहास में रक्षाबंधन का बहुत बरा इतिहास रहा हैं. कुछ इतिहास निचे दिए जा रहे हैं-

सिकंदर और पोरस का इतिहास 

एक महान घटना के अनुसार जब 326 ई0 पू0 में सिकंदर भारत में प्रवेश किया तो सिकंदर का पत्नी रोशानक ने राजा पोरस को एक राखी भेज कर यह वचन लिया की वह सिकंदर पर जानलेवा हमला न करें. जब युद्ध हुआ तो राजा पोरस जब अपने कलाई पर राखी बंधी देखि तो सिकंदर पर जानलेवा हमला नहीं किया 

2021 में रक्षाबंधन कैसे मनाये या रक्षाबंधन कैसे मनाया जाता हैं 

रक्षाबंधन का मूल अर्थ यह होता हैं की जो आप को धागा बांधे उसे आप जीवन भर रक्षा का वचन दे. बहन को चाहिए की वह अपने भाई को कहे की वह दुसरे नारी को सम्मान करें सभी का इज्जत करें, यही रक्षाबंधन का मनाने का सही तरीका हैं.

अन्य पढ़े :

error: Content is protected !!