CSC SPV Police Case, Against fraud Websites Cellecting Amount From VLEs | 2022

CSC SPV Police Case
CSC SPV Police Case

हेल्लों दोस्तों नमस्कार, यहाँ पर हम आपको CSC SPV Police Case के बारें में पूरी जानकारी देने वाले हैं, इस लिए आप इसे पूरा जरुर पढ़े ताकि आप सभी जानकारी प्राप्त हो सके-

What is CSC SPV Police Case? 2022

Other Hindi Newspaper’s

दैनिक जागरण- Click Here

जनसत्ता- Click Here

अमर उजाला- Click Here

राष्ट्रीय सहारा- Click Here

नवभारत टाइम्स- Click Here

राजस्थान पत्रिका- Click Here

प्रभात खबर- Click Here

पंजाब केसरी- Click Here

हरी भूमि- Click Here

दैनिक भास्कर- Click Here

Other English Newspaper’s

Millennium Post – Click Here

Business Line – Click Here

Hindustan Times – Click Here

Times of India – Click Here

Mint Newspaper – Click Here

Free Press Journal – Click Here

Hans India – Click Here

Telegraph Newspaper – Click Here

Economic Times – Click Here

The Pioneer Newspaper – Click Here

Business Standard – Click Here

यह सभी लोगो के साथ – साथ CSC VLE के लिए बहुत महत्वपूर्ण सूचना हैं क्योकिं आज कल बहुत अधिक फर्जी वेबसाइट बन चूका हैं जिसके कारण बहुत से लोग इस फर्जी वेबसाइट के चकर में फस जाते हैं, इस फर्जी वेबसाइटों के द्वारा इतना अधिक लोभ दिया जाता हैं की कुछ लोग इस लोभ के चलते अपने बहुत से पैसा इन फर्जी वेबसाइट वालो के दे देते हैं,

फर्जी बात(हम आप को तुरंत लोन दिला देंगे) 2022

मगर ऐसा होता नहीं हैं, उनके द्वारा कहा जाता हैं की आप इतना रुपया भुगतान करें हम आप को तुरंत लोन दिया देते हैं, लेकिन सच में ऐसा कुछ भी नहीं होता हैं, जब उन लोगों को पैसा मिल जाता हैं तब वे लोग कहते हैं की कुछ problem के कारण लोन लेने में समस्या हो रहा हैं जैसे ही समस्या दूर होता हैं हम आप को तुरंत संपर्क करते हैं, लोन लेने वाले बेचारा परेशान रहता हैं की कब कॉल आएगा लेकिन कॉल नहीं हैं क्योकिं वे सभी फर्जी रहता हैं.

इतना रुपया भुगतान करें तुरंत CSC मिल जाएगा

ये बात आप भी जानते हैं की CSC लेने में कुछ भी पैसा नहीं लगता हैं, सी एस सी बिलकुल फ्री में रजिस्ट्रेशन होता हैं, लेकिन कुछ फर्जी वेबसाइट के द्वारा ये लोभ दिया जाता हैं आप भुगतान करे हम आप को CSC id देंगें मगर वे दे नहीं सकते हैं,

निश्कर्ष:-

इस लिए इस सब को देखते हुए CSC SPV ने सभी फर्जी वेबसाइट के खिलाफ FIR दर्ज करने का फैसला लिया हैं, ताकि CSC के नाम पर फर्जी वारा रोका जाए और सभी सुरक्षित रहे

Regards, Suresh Digital Seva