मुखिया का मानदेय 2500 वां आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका का 1000 रुपये बढ़ा

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार द्वारा मान्यता और सम्मान के साथ मुखिया का मानदेय दिया जाता है। यह सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं के लिए एक प्रकार की प्रोत्साहन योजना है जो उनकी मेहनत और सेवा को मान्यता देती है। हाल ही में, सरकार ने आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं के मानदेय में एक बदलाव किया है और मुखिया का मानदेय 2500 वां आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका का मानदेय 1000 रुपये बढ़ाने का निर्णय लिया है।

09 January 2024 | दैनिक भास्कर (Dainik Bhaskar) | न्यूज़ पेपर (News Paper) | ई पेपर (E Epaper) | #psc

यह पहल के रूप में एक महत्वपूर्ण कदम है जो आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए एक बड़ी सुविधा प्रदान करेगा। इसे एक प्रोत्साहन के रूप में देखा जा सकता है जो आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं को और अधिक प्रभावी तरीके से काम करने के लिए प्रेरित करेगा।

आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं का काम बच्चों की सेहत, पोषण, शिक्षा और विकास से संबंधित होता है। वे गरीबी रेखा से ऊपर के घरों में जाकर बच्चों को नियमित चेकअप, आहार और शिक्षा की सुविधा प्रदान करते हैं। इसके अलावा, वे गर्भवती महिलाओं को भी सहायता प्रदान करते हैं और उन्हें आवश्यक जानकारी और सेवाएं प्रदान करते हैं। उनका काम बहुत महत्वपूर्ण होता है और उन्हें सम्मान और उच्चतम मान्यता का हकदार होना चाहिए।

यह मानदेय बढ़ाने का निर्णय आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं के लिए एक बड़ी संतोषजनक खबर है। इससे उन्हें अधिक सम्मान की भावना होगी और उनकी मेहनत का परिणाम स्पष्ट रूप से दिखेगा। यह निर्णय उनके प्रदर्शन को मान्यता देने के साथ-साथ उनके जीवन की गुणवत्ता को भी सुधारेगा।

आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं का काम आर्थिक रूप से भी महत्वपूर्ण होता है। इस नए मानदेय के बाद, उन्हें अधिक आर्थिक सहायता मिलेगी और उनके परिवार की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। इससे उनकी जीवनस्तर में वृद्धि होगी और उनका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं के योगदान को मान्यता और सम्मान के साथ सराहना किया जाना चाहिए। उनका काम समाज के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और उन्हें इसके लिए सम्मानित किया जाना चाहिए। इस नए मानदेय के बाद, उन्हें अधिक उत्साह और प्रेरणा मिलेगी और वे अपने काम को और भी मेहनती और प्रभावी तरीके से करेंगे।

सरकार का यह नया निर्णय आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका कार्यकर्ताओं के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे उन्हें अधिक सम्मान और मान्यता मिलेगी और उनकी मेहनत का परिणाम सार्थक रूप से दिखेगा। यह निर्णय उनकी जीवन की गुणवत्ता को सुधारेगा और उन्हें आर्थिक और सामाजिक रूप से स्थायी सुरक्षा प्रदान करेगा।

बिहार सरकार का ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पिछला आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

error: Content is protected !!